Home अभी-अभी आपदा मे सेवा की जगह कांग्रेस कर रही है नौटंकीः भाजपा

आपदा मे सेवा की जगह कांग्रेस कर रही है नौटंकीः भाजपा

242
0
SHARE

हेम बहुगुणा

धारचूला : भाजपा के मुख्य मीड़िया प्रभारी जगत मर्तोलिया  ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक व कांग्रेस आपदा काल में प्रभावितों की सेवा करने की जगह राजनीति कर रहे है. आंकड़े प्रस्तुत कर बीजेपी ने कांग्रेस के आंदोलन को मात्र नौटंकी करारा दिया.कहा कि लाख कोशिश के बाद भी कांग्रेस पचास की संख्या भी नहीं जुटा पाई.

मर्तोलिया ने बताया कि वर्ष 2013 की आपदा की दुहाई देकर कांग्रेस भ्रम फैला रही है. सरकारी आंकडे जारी करते हुए बताया कि आपदा काल के मृतको को 2013 में चार लाख रुपये का मुआवजा मिलता था, तब से आज तक यही राशि दी जा रही है. इस बार भी सरकार ने चार लाख रुपए दिए है. भवन के पूर्ण धवस्त होने पर दो लाख रुपए का क्षति मुआवजा 2013 में मिला.कांग्रेस की सरकार ने 2014 से 2016 तक मात्र एक लाख उन्नीस सौ रुपये मात्र क्षति का मुआवजा दिया, जबकि भाजपा सरकार इस बार दो लाख उन्नीस सौ रुपये दे रही है.    मर्तोलिया ने कहा कि इतना ही नहीं जिस धारचूला में आज कांग्रेस ने प्रर्दशन किया है, वही का वाकया है , 2014 में भवन के पूर्ण धवस्त होने पर दो लाख रुपए देने का प्रस्ताव भेजा गया था, तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शासनादेश जारी किया था, लेकिन कांग्रेस सरकार ने प्रस्ताव देने के बाद भी 13 लाख रुपए धारचूला को नहीं दे पाए. आज आपदा पीड़ितो की छदम हितैशी बनने का असफल प्रयास कर रही है. मर्तोलिया ने बताया कि भवन निर्माण के लिए केवल 2013 में पांच लाख रुपये मिले थे, वह धन कांग्रेस सरकार का नहीं था, विश्व बैंक ने राष्टीय आपदा घोषित होने के बाद ओ.ड़ी.सी.एच. के अन्तगर्त पांच लाख रुपए दिए थे. 2014 से 2016 तक तीन सालो के भीतर कांग्रेस ने क्यों भवन निर्माण के लिए पांच लाख रुपए नहीं दिए ? सत्ता से बाहर जाते ही भवन निर्माण मद के पांच लाख की याद कैसे कांग्रेस को आ रही है.  मर्तोलिया ने बताया कि 2013 की केदारनाथ त्रासदी में 197 के शव मिले थे,जबकि 4021 गायब हुए थे. 236 घायल हुए थे ओर 19 गांव नदी में समा गए थे, क्या कांग्रेस चाहती है कि ऐसी आपदा हमारे प्रदेश में आए. कहा कि केदारनाथ त्रासदी में देश ही नहीं विदेशो ने भी उत्तराखंड़ को करोडो रुपये दान में दिए. दान में मिले रुपये का घोटाला करने वाली कांग्रेस को जनता कभी माफ नहीं करेंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here