Home अभी-अभी आठ मिनट की बग्वाल में साठ हुए रक्त रंजित

आठ मिनट की बग्वाल में साठ हुए रक्त रंजित

441
0
SHARE

दिनेश चन्द पांडये

चम्पावत/देवीधूरा : उत्तर भारत का सुप्रसिद्ध देवीधूरा बग्वाल मेला बारिश और कोहरे की आगोश के बीच सौल्लास संपन्न हो गया।इस बार भी फल फूलों के साथ पत्थरों की मार आठ मिनट चली जिसमें पांच दर्जन बग्वाली वीर और दर्शक लहूलुहान हो गए।जिन्हें प्राथमिक उपचार दिया गया।इस रोमांचक, अदभुत और अक्लपनीय नजारे को 20 हजार से ज्यादा दर्शक टकटकी लगाकर अपलक देखते रहे।

सुबह बाराही धाम में विशेष पूजा अर्चना के बाद  दिन में दोपहर एक बजे से  सात थोकों और चार खामों के बग्वाली वीरों के जत्थे आने शुरू हो गए। खाम के लोगों ने अलग अलग रंग की पगडियों के साथ मां बाराही के जयघोष के बीच मंदिर और बग्वाल मैदान खोलीखांड द्रुबाचौड की परिक्रमा की। बांस के फर्रों और डंडों के बीच बग्वाली वीर उछल उछल कर मैदान  में रोमांच के साथ जोश और जज्बा पैदा कर रहे थे। सबसे पहले चमियाल खाम और अंत में   गहडवाल खाम का जत्था पुहचा।

वालिक खाम तिरंगे के साथ पुहचे।  मंदिर छोर पर लमगडिया और बालिक तथा बाजार छोर में गहडवाल व चमियाल खाम के बग्वाली वीर आमने सामने आ गए। जैसे ही पुजारी ने शंख और घंट ध्वनी की उतावले बग्वाली वीरों ने फल फूलों के साथ ही पत्थर चल पडे।जब पुजारी को आभास हुआ कि एक मानव के बराबर रक्तपात हो गया है तो वह चवर ढुलाते और मां बाराही के छत्र के साथ मैदान में पुहचे और शंखध्वनि के साथ बग्वाल बंद करने का ऐलान किया।इसके बाद भी एक दो मिनट पत्थर उछलते रहे।  2:38बजे शुरु हुई बग्वाल2:46 बजे यानि 8 मिनट चली । जिसमें  60 रणबाकुरों के साथ दर्शक भी लहूलुहान हो गए। जिनका प्राथमिक उपचार हुआ। कुछ का बिच्छू घास लगाकर भी परंपरागत उपचार हुआ।

इस बार मेले के मुख्य अतिथि केंद्रीय राज्य मंत्री अजय टम्टा और उत्तराखंड के मंत्री धन सिह रावत रहे। विधायक पूरन फर्त्याल, राम सिंह कैडा, धन सिंह रावत डीएम एस एन पांडेय एस पी डी एस गुंज्याल सहित कई वशिष्ठ लोग इस मौके पर मौजूद रहे।

कई सालों से नही देखी बग्वाल

देवीधूरा:  दो दशक से मेले में आने वाले कोमल सिंह राहुल, बौबी, संजू   व्यापारी बताते है कि वह हर साल आते तो है पर दुकान ऐसी जगह है कि वह सामने से बग्वाल नही देख पाते । हां आजकल सोशल मिडिया के चलते कभी लाइव तो कभी रिकार्डेट नजारे जरूर देखते है।

 

इसबार रही असुविधा

देवीधूरा: इस बार बाराही धाम में पर्यटन मद से हो रहे निर्माण कार्यों के चलते असुविधाओं का भी सामना करना पडा। बाबजूद इसके बग्वाली वीरो और दर्शकों व श्रद्धालों के जोश खरोश में  कोई कमी नहीं थे।मंदिर समिति और पंचायत के लोग मेले की सफलता को लेकर जुटे रहे।

बारिश से कम रही दुकानदारी

देवीधूरा: बारिश के चलते इस बार व्यावसायिक गतिविधियों में कमी रही। दुकानदार अनीस, राहुल, किशन, ममता, जीत, खंपा ने बताया कि बिक्री में थोडा कमी रही।

बग्वाल के वक्त खुला मौसम

देवीधूरा: इसे मां का चमत्कार ही कहा जाऐगा कि  ठीक बग्वाल के समय मौसम  साफ हो गया और वीरों ने जमकर बग्वाल खेली।और जैसी ही बग्वाल समाप्त हुई फिर बारिश शुरू हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here