Home अभी-अभी अगर मार्ग तैयार नही हुआ तो होगा धरना

अगर मार्ग तैयार नही हुआ तो होगा धरना

83
0

संवाद सूत्र पिथौरागढ़

पिथौरागढ़ : धारचूला के व्यास घाटी में दस हजार भेड़ व एक हजार से अधिक घोड़े फंसे हुए है. उच्च हिमालयी क्षेत्र में मौसम के अचानक खराब होने से ठंड बढ़ गई है.उत्तराखंड भेड़ पालक संघ ने एक सप्ताह में नेपाल के रास्ते पैदल यात्रा के लिए मार्ग नहीं बनने पर 15 अक्टूबर को एसडीएम कार्यालय धारचूला में धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है. भेड़ पालक संघ के प्रदेश अध्यक्ष जगत मर्तोलिया ने बताया कि बी.आर.ओ.की सड़क के निर्माण से व्यास घाटी का पैदल मार्ग चलने लायक नहीं है.माईग्रेशन के लिए उच्च हिमायली क्षेत्र में गये भेड़ व घोड़े वहां फस गये है. दस दिन पहले संघ ने जिलाधिकारी से मिलकर उन्हे पत्र देकर यह मामला उठाया था. अभी तक कोई कार्यवाही नहीं होने से भेड़ पालक बेहद परेशान है. मर्तोलिया ने बताया कि भेड़ो के इस बीच बच्चे हो रहे है, भेड़ सितम्बर लास्ट में तराई की ओर वापस लौट जाते थे, इस बार वहीं फसे हुए है. ठंड से दर्जनों भेड़ के बच्चे मर चूके है.मर्तोलिया ने कहा कि जिला प्रशासन को पहले ही पैदल मार्ग चालू करने के लिए सोचना चाहिए. कहा कि उक्त समय सीमा के भीतर नेपाल से पुल बनाकर भेड़ व घोड़ो को नीचे उतारने की व्यवस्था नहीं की गई तो आंदोलन किया जायेगा.मर्तोलिया ने कहा कि इसके लिए भेड़पालको से सम्पर्क किया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here