Home अभी-अभी जौनपूर क्षेत्र में धूमधाम से मनाया मरोज का त्योहार।

जौनपूर क्षेत्र में धूमधाम से मनाया मरोज का त्योहार।

118
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : मसूरी के समीपी जौनपूर विकासखंड में मरोज का त्योहार बडे हष्र्षोलास व धूमधाम के साथ मनाया गया। ग्रामिणों ने पारम्परिक रीति रिवाजों के साथ पूजा अर्चना कर मनाण चैक में बकरों को इक्कटठा किया और उसके बाद बकरे काटे।

जौनपूर जौनसार क्षेत्र के अधिकांश गांवों में एक माह तक मनाये जाने वाले मरोज मेला का शुभारंम्भ हो गया  है। ग्रामिणों ने पौराणिक रीतिवाजों के मुताविक बकरे काटे और लोक गीतों व बाध्य यंत्रों की थाप पर जमकर नृत्य किया है। गौरतलब हो कि जौनपूर जौनसार क्षेत्र आज भी अपनी लोक संस्कृति को बखूबी संजोया हुआ है। इन क्षेत्रों में हर त्योहार को पाॅरम्परिक तौर पर मनाया जाता है। मरोज के त्योहार को मनाने का क्षे़त्रीय लोगो को बेसब्री से इंन्तजार रहता है।प्रतिवर्ष मक्रणी सॅक्रान्त के एक दिन पहले इस त्योहार को मनाया जाता है। जिसमें मुख्यरूप से बकरे काटे जाते है और पूरे एक माह तक अपने रिश्तेदारों से लेकर सगेसम्बधियों को घर बुलाकर उन्हे दावत के रूप में परोसे जाते है। वहीं पौराणिक लोक गीतो पर महिला पुरूष जमकर नाचते है। इस प्रकार का कार्यक्र्रम क्षेत्र के हर गाँवों में जारी रहता है। ग्रामिण इंन्द्र सिह राणा. श्रीमति कमा देवी, जौमती देवी, हुकम सिह राणा, शांति प्रसाद गौड आदि लोगो का कहना है कि ग्लेमर की इस चकाचैंद के बीच जौनपूर /जौनसार क्षेत्र आज भी अपनी पौराणिक लोक संस्कृति को पूरी तरह संजोये हुये है। बाध्य यंत्रों से लेकर पहनाव और तीज त्योहार में किसी भी प्रकार का बदलाव नही आया है। उन्होने बताया कि वैसे तो साल के हर महिने की संक्रांत पर कोई ना कोई त्योहार मनाने की प्रथा जींवत है लेकिन मरोज का त्योहार, चैत की फुल्याँत, बैसाख के थौल मेला, भाद्रपद की दुबडी, और जागडा पर्व, मंगसीर की बग्गवाल आदि त्योहार बडे धूमधाम के साथ मनाये जाते है। लेकिन मरोज का त्योहार इन सभी त्योहारों से हटकर है जो पूरे एक माह तक मनाया जाता है। जिसमें मरोज का शुभारम्भ बकरे काटने से होता है। वही उन्होने बताया कि आज भी यह प्रथा कायम है कि अगले वर्ष के मरोज के लिये दुसरा बकरा खुंटे में आज ही बांध लिया जाता है। जिससे उसे पूरे सालभर खूभ खिलाया पिलाया जाता है। और अगले आने वाले मरोज में उसे काटा जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here