Home अभी-अभी मीडिया कर्मियों की समस्याओं और मांगों पर गंभीर चर्चा

मीडिया कर्मियों की समस्याओं और मांगों पर गंभीर चर्चा

154
0
SHARE

संवाद सूत्र

चम्पावत/लोहाघाट : उत्तराखंड के मीडिया कर्मियों की प्रमुख संस्था नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में प्रदेश भर के पत्रकारों और मीडिया कर्मियों की समस्याओं और मांगों पर गंभीर चर्चा हुई। बैठक में विभिन्न जिलों से आए प्रतिनिधियों ने राज्यभर में समाचार कवरेज के दौरान इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के प्रतिनिधियों पर हो रहे हमले और अभद्रता पूर्ण व्यवहार पर बेहद नाराजगी व्यक्त करते हुए पत्रकारों की सुरक्षा के लिए ठोस नीति बनाने की मांग की। वक्ताओं ने मीडिया पर हमले और पत्रकार उत्पीड़न की घटनाओं को लोकतंत्र के खिलाफ बताया।

चंपावत जनपद जनपद के पाटी ब्लॉक स्थित रीठा साहिब में जगदीश राय की अध्यक्षता में आयोजित यूनियन की दो दिवसीय बैठक में यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष त्रिलोक चंद्र भट्ट ने कहा कि पत्रकारों की सुरक्षा के लिए यूनियन ने अपने स्तर से अनेक कदम उठाते हुये समय-समय पर सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों से महाराष्ट्र की तर्ज पर पत्रकार सुरक्षा कानून उत्तराखंड में भी लागू करने की मांग की है। उन्हें जानकारी दी कि इस संबंध में सूचना एवं लोक संपर्क विभाग ने पत्रावली तैयार कर शासन में भेजी है जो काफी समय से गृह विभाग में लंबित है। उन्होंने बताया की पत्रकारों की सुरक्षा से चिंतित होकर यूनियन ने राज्य के मुख्यमंत्री सभी विधायकों, कैबिनेट मंत्रियों तथा उत्तराखंड से विगत लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसदों को भी पत्र भेजकर अपने स्तर से पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने का अनुरोध किया था। कहा कि इस गंभीर मुद्दे पर राज्य भर के सभी पत्रकार संगठनों, लघु और मझौले समाचार पत्र प्रकाशकों और मीडिया घरानों को एक मंच पर आकर सार्थक पहल करनी होगी। उन्होंने कहा कि बीते कुछ समय से  पत्रकारों पर हमले बढ़े हैं। कई जगह उनको मीडिया कवरेज से भी रोका गया है इस संबंध में उन्होंने गैरसैण (चमोली)और भगवानपुर (हरिद्वार) का उदाहरण देते हुए बताया कि गैरसैण के एक विद्यालय की जांच करने गए जांच दल के साथ समाचार कवरेज करने पर जहां विद्यालय प्रबंधन द्वारा पत्रकार को रोका गया और उसके साथ अभद्रता की गई वहीं हरिद्वार जनपद स्थित भगवानपुर में मतदान के दिन निर्वाचन आयोग का मीडिया पास होने के बावजूद मतदान कक्ष में प्रवेश करने से मीडिया कर्मियों को रोका गया। उन्होंने कहा कि यह प्रेस की स्वतंत्रता का हनन है। उन्होंने कहा कि मीडिया को अपने काम से रोक कर उस पर दबाव बनाकर या मनमाफिक समाचारों के प्रकाशन को लेकर जिस तरह की नीतियां वह व्यवहार वर्तमान दौर में हो रहा है ऐसे में स्वतंत्र पत्रकारिता की कल्पना भी नहीं की जा सकती। यहां आयोजित बैठक में संगठन के साथ नए सदस्यों को जोड़ने, संगठन को मजबूत बनाने आपातकालीन फंड, संगठन के आय-व्यय  तथा सामाजिक हितों में किए गए कार्यों की विस्तृत जानकारी दी गई। प्रदेश महासचिव सुरेश पाठक, प्रचार मंत्री डॉ. मदन मोहन पाठक, कोषाध्यक्ष धन सिंह बिष्ट, दया जोशी, सूर्या सिंह राणा आदि ने भी बैठक में विचार रखे। बैठक में विशिष्ट अतिथि गुरुद्वारा प्रबंधक बाबा श्याम सिंह और जिला पंचायत सदस्य भोला सिंह बोहरा ने विभिन्न क्षेत्रों से आए  पत्रकार प्रतिनिधियों का स्वागत किया।

विशिष्ट अतिथि बाबा श्याम सिंह और भोला सिंह बोहरा को यूनियन ने प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रबंधक श्याम सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष त्रिलोक चंद भट्ट को सरोपा और कृपाण भेंट की। पत्रकार मनोज राय के संचालन में आयोजित इस कार्यक्रम में नवल किशोर जोशी, गौरीशंकर पंत, सुरेंद्र राज सिंह लडवाल, दीपक बोहरा, सूरज वोहरा, आशीष पांडे, भगवान राम, नकुल पंत, हेम बहुगुणा, सुरेश गड़कोटी, धीरज गहतोड़ी आदि अनेक पत्रकार मौजूद रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here