Home अभी-अभी कांडी खाल के पास एनएच 707ए भूस्खल के कारण बंद पांच घंटे...

कांडी खाल के पास एनएच 707ए भूस्खल के कारण बंद पांच घंटे बाद भी मार्ग नहीं खुला, सैकड़ो वाहन व चारधाम यात्री फंसे।

168
0
SHARE

संवाद सूत्र टिहरी

टिहरी : कैम्पटी यमुनोत्री जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 707ए प्रातः पहाड़ी के दरकने से आये मलवे से कांडीखाल के समीप बंद हो गया। जिसके कारण चारधाम यात्री व अन्य यात्री पांच घंटे से फंसे हैं। रोड के दोनों ओर वाहनों का लंबा जाम लग गया है। वहीं जहां रोड बंद हुआ वहां पर खाने पीने की दुकानें भी नहीं है जिस कारण यात्रियों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मौके पर प्रशासन के अधिकारी मौजूद हैं व दो जेसीबी रोड खोलने के लिए लगा रखी है।

मसूरी यमुनोत्री हाइवे 707ए कांडी खाल के पास पहाड़ी के बडे़ हिस्से के गिरने व मलवा आ जाने के कारण बंद हो गई है। वहीं रोड का पुश्ता भी क्षतिग्रस्त हो गया है। मलवा इतना अधिक है कि पांच घंटे हो जाने के बाद भी रोड खुलने की अभी संभावना नहीं है। बताया गया कि अभी दो से तीन घंटे लग सकते हैं। कारण यह है कि जेसीबी के मलवा साफ करने से पहाड़ी का हिस्सा लगातार दरक रहा है जिस कारण जेसीबी को काम बीच बीच में रोकना पड़ रहा है। बताया गया कि रोड प्रातः करीब साढे नौबजे बंद हो गई थी जो पांच बने तक नहीं खुल पायी थी। मौके पर मौजूद कानूनगो रमेश चैहान ने बताया कि रोड बंद होने की सूचना मिलने पर वह एक घंटे में मौके पर पहुंच गये थे व तुरंत एक जेसीबी की व्यवस्था कर रोड खुलवाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। वहीं थानाध्यक्ष कैम्पटी कविता कुमारी ने बताया कि सूचना मिलने पर वह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे व रोड खुलवाने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन एक जेसीबी से रोड खोलने में हो रहे विलंब व चारधाम यात्रियों की परेशानी को देखते हुए लोगों ने मुख्य विकास अधिकारी टिहरी आशीष परागाई को फोन किया वहीं एनएच 707ए के अधिशासी अभियंता ओपी सिंह से भी बात की जिन्होंने एक और जेसीबी मौके पर भेज दी है।

स्थानीय ग्रामीणों जयपाल सजवाण, मोहन सजवाण, आदि ने रोड खोलने का विरोध किया व जेसीबी नहीं लगने दी। जिस पर तहसीलदार नैनबाग के द्वारा एनएच के सहायक अभियंता को फोन किया गया जिस पर उन्होंने कहा कि मुआवजे का ड्राफट बन चुका है। जिस पर रोड खोलने का कार्य शुरू किया गया। इस मौके पर ग्रामीणों का कहना है कि एनएच द्वारा यह पुल ही गलत स्थान पर बनाया गया है जिसके कारण यहां आये दिन भूस्खलन होता रहता है और उसकी जद में उनकी कई नाली कृषिभूमि फसल सहित नष्ट हो चुकी है और लगातार हो रही है। वहीं यहां पर पाचं घराट थे वह भी नेस्तनाबूद हो गये हैं। कई बार एनएच को मुआवजे के लिए कहा गया लेकिन आज तक मुआवजा तक नहीं दिया गया।

रोड बंद होने के कारण बड़ी संख्या में चारधाम यात्री भी फंस गये जिससे उन्हें बड़ी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। यात्रियों घनश्याम यूएसए, रेखा सहारन पुर, पूनम सिंघल रूडकी, सुभाष जयपुर आदि का कहना है कि वह सुबह से यहां रूके है। रोड बंद होने के एक घंटे बाद एक जेसीबी लगाई गई जिससे बहुत समय लग रहा है बच्चे भूखे है पास में कोई भी चाय पानी तक की सुविधा नहीं है। उन्होंने कहा कि यह सरकार की लापरवाही है कि कोई बड़ा अधिकारी तक मौके पर नहीं आया न ही रोड खोलने में तेजी की जा रही है जिस कारण आगे जाने में परेशानी होगी रात को कहां रूकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here